‘कोरोना के बाद एक नई जीवनशैली विकसित होगी’ मुख्यमंत्रियों के साथ PM मोदी की बैठक में कहा

0
650
Spread the love

कोरोना वायरस से निपटने की रणनीति और लॉकडाउन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान कहा कि भारत इस संकट से अपने आप को बचाने में बहुत हद तक सफल रहा है।

‘कोरोना के बाद एक नई जीवनशैली विकसित होगी’ मुख्यमंत्रियों के साथ PM मोदी की बैठक में कहा

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से निपटने की रणनीति और लॉकडाउन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान कहा कि भारत इस संकट से अपने आप को बचाने में बहुत हद तक सफल रहा है। हालांकि उन्होंने इस बैठक सतर्कता बरतने की सलाह देते हुए कहा कि दो गज की दूरी ढीली हुई तो संकट बढ़ेगा। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि आप सभी के सुझावों से दिशानिर्देश निर्धारित होंगे। उन्होंने कहा कि सभी राज्य मिलकर काम कर रहे हैं और राज्यों ने अपनी जिम्मेदारियां निभाई है। कैबिनेट सचिव , राज्यों के सचिव से लगातार संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि हम अधिक फोकस रखें और सक्रियता बढ़ाएं, दो गज की दूरी ढीली हुई तो संकट बढ़ेगा।

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कहा कि संतुलित रणनीति से हम आगे बढ़ें और इस रास्ते में क्या चुनौतियां हैं इस पर काम करें। हम लॉक डाउन कैसे लागू कर रहे हैं यह बड़ा विषय रहा , हम सब की भूमिका महत्वपूर्ण रही। कामगारों की ओर इशारा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारा प्रयास यही रहे कि जो जहां है वहीं रहे , लेकिन मनुष्य का मन है और हमें कुछ निर्णय बदलने भी पड़े। उन्होंने कहा कि गांव तक यह संकट न पहुंचे यही अब बड़ी चुनौती है।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, कैबिनेट सचिव राजीव गौबा के साथ रविवार को एक बैठक में राज्य के मुख्य सचिवों ने उन्हें बताया कि “कोरोना वायरस से व्यक्तियों की सुरक्षा और बचाव की बहुत आवश्यकता है, लेकिन इसके साथ ही आर्थिक गतिविधियों को भी बड़े पैमाने पर सामान्य बनाने की जरूरत है”। हजारों प्रवासी श्रमिक विशेष ट्रेन की सुविधा अपने गृह राज्य वापस जा रहे हैं, ऐसे में कई राज्यों में श्रम कानूनों में कई छूट दिये जाने के बाद भी औद्योगिक गतिविधियों को फिर से शुरू करना एक चुनौती साबित होगा। 

इस बैठक में कोरोना वायरस संक्रमण के अधिक मामले वाले इलाकों को ‘रेड जोन’ से ऑरेंज और ग्रीन जोन में बदलने के प्रयासों पर भी चर्चा हुई । प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों के साथ पिछली बातचीत के दिनों के बाद, केंद्र सरकार ने लॉकडाउन को बढ़ाकर 17 मई तक कर दिया था। इसके साथ ही आर्थिक गतिविधियों और लोगों की आवाजाही के संबंध में में कई ढील भी दी गयी थी। कोरोना वायरस महामारी पर रोकथाम के लिये देश भर में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है।


Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here