एक बेटा नेता और दूसरा बड़ा अफसर, फिर भी सड़कों पर पड़ी मिली बूढ़ी मां

57
2047
Spread the love

नयी दिल्ली। एक बेटा बड़ा राजनेता और दूसरा बड़ा अफसर फिर भी अगर बूढ़ी मां दरिद्र अवस्था में सड़क पर पड़ी मिले और उसके सिर में कीड़े पड़ गए हों तो इससे शर्मनाक और क्या हो सकता है। जिस मां ने अपने बेटों को इस काबिल बनाया होगा वो ही बेटे अपनी मां को इस हालत में कैसे छोड़ सकते हैं।लोगों ने जब बुजुर्ग महिला की हालत देखी तो उनकी आंखों से आंसू निकल आए। हालांकि जब बेटे को होश आया तब तक मां ने अपने प्राण त्याग दिए।

ये है पूरा मामला

पंजाब के बठिंडा से एक दिल-दहला देने वाला मामला सामने आया है, जहां कुछ लोगों को सड़क किनारे के खाली मैदान में 80 साल की एक बुजुर्ग महिला दरिद्र अवस्था में मिली. महिला के सिर में कीड़े पड़े हुए थे. एनजीओ और पुलिस की मदद से लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया. जब उसके परिवार की छानबीन की गई तो लोग जानकर  हैरान रह गए.

लोगों का कहना है कि 80 साल की बुजुर्ग एक बेहद अच्छे परिवार की महिला थी. उसका एक बेटा बड़ा सरकारी अफसर है और दूसरा बड़ा राजनेता है. जानकारी के मुताबिक, मुक्तसर गांव की ओर जाती हुई सड़क के किनारे बने खुले मैदान में बुजुर्ग पड़ी हुई मिली. बूढ़ी महिला के सिर में कीड़े पड़े हुए थे और उसकी हालत बहुत खराब थी. जैसे ही लोगों ने महिला को देखा तो उन्होंने तुरंत एनजीओ और पुलिस को मामले की जानकारी दी.

एक बेटा नेता और दूसरा बड़ा अफसर, फिर भी सड़कों पर पड़ी मिली बूढ़ी मां

बूढ़ी महिला की जानकारी मिलते ही एनजीओ और पुलिस मौके पर पहुंची. उन्होंने महिला को तुरंत ही सिविल हॉस्पिटल में भर्ती करवाया. लोगों का कहना है कि महिला काफी दिनों से सड़क किनारे खाली मैदान में ईंटों की झोपड़ी बनाकर रह रही थी. लोगों ने जब महिला को देखा तो उसकी दयनीय स्थिति देखकर आंखों में आंसू आ गए.

सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराने के बाद उसके परिवार के बारे में पता करवाया गया. बूढ़ी महिला के परिवार में दो बेटे हैं दोनों ही बेटे समाज में अच्छा रुतबा रखते हैं. एक बड़ा  सरकारी अफसर है और दूसरा बड़ा राजनेता है फिर भी उनकी मां सड़क पर पड़ी हुई पाई गई.

यहां तक कि उसकी पोती भी क्लास वन ऑफिसर है. बता दें बीते शुक्रवार को एनजीओ ने बूढ़ी महिला को अस्पताल में भर्ती कराया था, जिसके बाद इस मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. वायरल वीडियो को देखकर लोगों ने बूढ़ी महिला के परिवार की जानकारी दी.

इसके बाद बूढ़ी महिला को एक बेटा अपने साथ फरीदकोट ले गया लेकिन सोमवार सुबह उनकी मौत हो गई, जिसके बार परिवार ने गुपचुप तरीके से महिला का अंतिम संस्कार कर दिया. महिला की पोती एक पुलिस अफसर है जिसकी वजह से पुलिस भी इस मामले में कुछ बोलने के लिए तैयार नहीं है और न ही किसी ने मामला दर्ज कराया. साथ ही परिवार के सदस्य भी सवालों से बचते हुए नजर आए. हालांकि जिला उपायुक्त ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं.


Spread the love

57 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here