भारतीय खुफिया उपग्रह तिब्बत के ऊपर से गुजरा, चीन ने सैनिक तैनात किए

1
503
Spread the love

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा निर्मित, यह उपग्रह रेडियो संकेतों की निगरानी करता है जो कि दुश्मन के क्षेत्र में ट्रांसमिशन के सभी स्रोतों की प्रकृति और स्थान का निर्धारण करने के लिए उपयोग किया जाता है।

नई दिल्ली. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा संचालित भारत के प्रमुख खुफिया उपग्रह ने चीन के कब्जे वाले तिब्बत के ऊपर से गुजरते हुए चीनी पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के ठिकानों की अच्छी टोह ली है। एक आधिकारिक सूत्र ने कहा कि उपग्रह कौटिल्य, जो एक एलईएनटी (इलेक्ट्रॉनिक खुफिया) पैकेज वाला है, जिसकी “क्षमता सैन्य उद्देश्यों के लिए उच्च-गोपनीय ऑपरेशन और पहलुओं को बारीकी से संरक्षित करने की है, शनिवार को अरुणाचल प्रदेश के पास चीनी कब्जे वाले तिब्बत में पीएलए के ठिकानों के ऊपर से गुजरा।”

भारतीय खुफिया उपग्रह तिब्बत के ऊपर से गुजरा, चीन ने सैनिक तैनात किए

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा निर्मित, यह उपग्रह रेडियो संकेतों की निगरानी करता है जो कि दुश्मन के क्षेत्र में ट्रांसमिशन के सभी स्रोतों की प्रकृति और स्थान का निर्धारण करने के लिए उपयोग किया जाता है। भारत और चीन के बीच लद्दाख में एलएसी पर जारी गतिरोध को लेकर भारत और चीन के बीच बातचीत का कोई परिणाम नहीं निकलने के एक दिन बाद सैटेलाइट तिब्बत के ऊपर से गुजरा है।

सूत्रों ने बताया कि देपसांग सेक्टर में चीनी सैनिक तैनात किए गए हैं, क्योंकि सैनिकों को एलएसी के उनके हिस्से में खुदाई करते हुए देखा जा सकता है। पीएलए ने 2013 में भी देपसांग में घुसपैठ की थी।

शुक्रवार को, सूत्रों ने कहा, भारतीय रडार टोही उपग्रह आरआईएसएटी-2बीआरआई जिबूती में चीनी पीपल्स लिबरेशन आर्मी नेवी बेस (पीएलएएन) के ऊपर से गुजरा था। यह अड्डा पीएलएएन का पहला विदेशी सैन्य अड्डा है, जिसे भारी लागत पर बनाया गया है। हाल ही में, खबरें आई थीं कि तीन चीनी युद्धपोत जिबूती तट के पास तैनात हैं। हालांकि भारत और चीन लद्दाख गतिरोध पर बातचीत में लगे हुए हैं, लद्दाख और कश्मीर में अटकलें हैं कि पाकिस्तान और चीन आने वाली सर्दियों के दौरान भारत के खिलाफ दो-मोर्चे की लड़ाई की तैयारी कर रहे हैं।


Spread the love

1 COMMENT

  1. Thanks for the tips about credit repair on this blog. Things i would tell people should be to give up this mentality that they may buy currently and fork out later. Being a society many of us tend to make this happen for many issues. This includes vacation trips, furniture, along with items we’d like. However, you’ll want to separate your current wants out of the needs. If you are working to boost your credit score actually you need some trade-offs. For example you’ll be able to shop online to save cash or you can look at second hand merchants instead of high-priced department stores pertaining to clothing.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here